एक पहल ज्ञान के आदान-प्रदान की ओर

                    दिल्ली विश्वविद्यालय के राम लाल आनंद महाविद्यालय के हिंदी पत्रकारिता विभाग की तरफ से सोमवार को एकदिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का आयोजन विभागाध्यक्ष डॉ. राकेश कुमार के नेतृत्व में किया गया। इस कार्यक्रम में अतिथि के तौर पर राम लाल आनंद महाविद्यालय के पत्रकारिता विभाग के भूतपूर्व विद्यार्थियों संदीप निरंजन सरकार, मो. अनवर आलम और प्रकाश पांडेय को आमंत्रित किया गया।

कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे सीनियर्स ने अपने पत्रकारिता जगत के अनुभवों को विद्यार्थियों के साथ साझा किया। छात्रों ने इस दौरान सीनियर्स से अपनी जिज्ञासा के अनुसार प्रश्न पूछे। कार्यशाला के माहौल को मिलनसार बनाने के लिए सावाल जवाब का सिलसिला भी चला। छात्रों ने कई तरह के सवाल अपने सीनियर्स से किये, जनमें एक सबसे जरूरी सवाल था कि, हमारे पाठ्यक्रम में इंटर्नशिप कैसे करें और इसका महत्व कितना है ?’ सीनियर्स ने अपने अनुभवों के बारे में बताते हुए इस सवाल का जवाब दिया और कहा कि, इंटर्नशिप का महत्व तब है जब आप कुछ सीखते हैं, सिर्फ किसी मीडिया संस्थान से जुड़ कर प्रमाण पत्र लेना भर ही इंटर्नशिप नहीं होती। इस दौरान छात्रों ने प्रिंट, इलेक्ट्रोनिक और ऑनलाइन मीडिया के बारे में जाना। छात्रों ने जाना कि किस तरह एक मीडिया संस्थान कार्य करती है।

अपने अनुभव साझा करने पहुंचे सीनियर्स ने पत्रकारिता विभाग के छात्रों को हमेशा सकारात्म सोच के साथ आगे बढ़ते रहने के लिए कहा, साथ ही कहा कि वह हमेशा छात्रों के साथ हैं और समय-समय पर उनका मार्गदर्शन करते रहेंगे।

अतिथि के तौर पर शिरकत करने पहुंचे सीनियर्स ने बताया कि उन्होंने पत्रकारिता के क्षेत्र में जो भी अनुभव लिया उसके आधार पर अपना ऑनलाइन मीडिया शुरु किया है, और पत्रकारिता विभाग के छात्रों को अपने साथ अनुभव लेने के लिए आमंत्रित किया। इस कार्यशाला से छात्रों को काफी अनुभव मिला। साथ ही इसे सफल बनाने के लिए विभागाध्यक्ष डॉ. राकेश कुमार ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

 

विभा कुमारी

प्रथम वर्ष, हिन्दी पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग

राम लाल आनंद महाविद्यालय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Updates |