दिल्ली में मनाया गया राष्ट्रीय समरसता दिवस, मुख्य अतिथि सांसद मनोज तिवारी ने बाटी खीर

सामाजिक समरसता मंच, दिल्ली द्वारा 14 अप्रैल 2018 को राष्ट्रीय समरसता दिवस मनाया गया। इस मौके पर डॉ भीमराव अम्बेडकर की जयंती के अवसर पर पुष्पांजलि कार्यक्रम भी रखा गया। जिसमे बौद्ध भिक्षुओं ने भी अपने विचार रखे । उन्होंने कहा कि हमें भगवान बुद्ध और बाबासाहेब के विचारों का अनुसरण करते रहना है।

इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में भारतीय जनता पार्टी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी ने शिरकत करी। डॉ. अम्बेडकर की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करने के बाद मनोज तिवारी ने वहाँ पर अपने विचार रखते हुए बताया कि मोदी सरकार ने बीते चार साल मे किस तरह बाबा साहब के पंचतीर्थ का निर्माण करवाया है। इन पंचतीर्थों में महु, जहां पर बाबा साहब का जन्म हुआ, लंदन में अध्यन के दौरान उनका स्थान, नागपुर बौद्ध धर्म की दीक्षा, महापरिनिर्वाण स्थान दिल्ली, मुंबई शामिल है, जहां उनका समारक हैं। मनोज तिवारी ने बताया कि यह पंचतीर्थ अम्बेडकर के विचारों को पूरी दुनिया में फैलायेगे। कांग्रेस ने बाबा साहब को भुला दिया है लेकिन भारतीय जनता पार्टी बाबा साहब को कभी नहीं भुला सकती है। बाबा साहब ने बताया है कि पूरी मानव जाति मे समरसता कैसे हो | इसके आलावा बाबासाहेब ने कहा है कि दलितों को मुख्य धारा मे लाये बिना इस देश का विकास नहीं हो सकता है । इसके साथ सांसद मनोज तिवारी ने बोला की हम सब को बाबा सहाब के विचारों को जन जन तक पहुचाना है। मेरा सौभाग्य है कि मेरा जन्म उस गांव में हुआ जिस गांव से बाबु जगजीवन राम संसद सदस्य चुने गये। हम डॉ. अम्बेडकर की तुलना मार्टिन लूथर किंग से भी कर सकते है। मार्टिन लूथर किंग ने भी बाबा साहब के विचारों का अनुसरण किया था। इस खास मौके पर मनोज तिवारी ने लोगो को खीर भी बाटी ।

अम्बेडकर के नाम को सभी पार्टियां अपने अपने रंग मे रंग रही है। लेकिन हम सब के लिए सबसे जरुरी है की हम बाबासाहेब के विचारों को मौजूदा समय मे भी याद रखें |

महेंद्र

प्रथम वर्ष, हिंदी पत्रकारिता

रामलाल आनंद कॉलेज (डीयू)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Updates |