मॉब लिंचिंग के आरोपियों पर पिता-पुत्र आमने-सामने, यशवंत सिन्हा ने बेटे को कहा ‘नालायक’

न्यूज डेस्क, नई दिल्ली || एक पिता का पूरा हक है कि वो अपने बेटे को डांटे, नालायक कहे या उस पर हाथ उठा दे। ये बात इतनी बड़ी नहीं होती। लेकिन अगर एक बेटे को पिता नालायक कहे और बात बड़ी बन जाए तो उसके पीछे वजह भी बड़ी होती है। यहां हम बात कर रहे हैं बीजेपी के कद्दावर नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रहे यशवंत सिन्हा की, जिन्होंने अपने बेटे जयंत सिन्हा को नलायाक कह डाला। जयंत सिन्हा मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री हैं और एक सम्मानित पद पर हैं। इसके बाद भी उनके पिता ने उन्हे सबके सामने नालायक बताया।

ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि झारखंड के रामगढ़ में कुछ वक्त पहले मॉब लिंचिंग का मामला सामने आया था। उसमें आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी। लेकिन उम्रकैद की सजा पाए गए 8 युवकों को जमानत मिल गई थी। जिसके बाद केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने उनका स्वागत किया था और स्वागत की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायर हो गई थी, जिसके बाद बवाल मच गया था। बेटे जयंत सिंहा द्वारा मॉब लिंचिंग के आरोपियों को माला पहनाए जाने पर यशवंत सिन्हा ने उन्हे ‘नालायक’ करार दे दिया।

बता दें कि 29 जून को अलीमुद्दीन हत्याकांड मामले में फास्ट ट्रैक कोर्ट ने उन आठ आरोपियों को जमानत दी थी जिन्हे उम्र कैद की सजा मिली हुई थी। कोर्ट के आदेश के बाद सभी आरोपियों को 3 और 4 जुलाई को हजारीबाग सेंट्रल जेल से रिहा किया गया था। सभी आरोपियों के स्वागत के लिए उनके परिजन और रामगढ़ बीजेपी जिला अध्यक्ष शिव शंकर बनर्जी जेल के बाहर पहुंचे थे। जिसके बाद उन्हें केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा के डेमोटांड स्थित आवास पर ले जाया गया। उस दौरान सिन्हा एक कार्यक्रम से लौटे थे और जमानत पर छूटे सभी आरोपियों का माला पहनाकर और मिठाई खिलाकर स्वागत किया। माला पहने आरोपियों की ये तस्वीर वायरल हो गई, जिसने न सिर्फ सियासी गलियारे में हलचल तेज करदी बल्कि खुद जयंत सिन्हा के पिता भी मुखर हो गए।

अब इस सत्ता का नशा कहें नेताओं की नासमझी कि बीजेपी के ही नेता ने इस फोटो को फेसबुक पर अपलोड कर के वायरल किया था। इतना ही नहीं कुछ लोगों को वाट्सएप भी किया था। बस फिर क्या था, पोस्ट वायरल हुई और विवाद शुरु हो गया। हालांकि जयंत सिन्हा ने मामले में अपनी सफाई देते हुए कहा कि संविधान सर्वोपरी है। उन्होंने कहा कि अलीमुद्दीन हत्याकांड के लोगों को सजा मिलेगी और निर्दोंषों को न्याय दिलाया जाएगा। जमानत मिले आरोपियों के स्वागत पर सिन्हा ने कहा कि वे सभी मेरे आवास पर अपने परिजानों के साथ आए थे, मैंने उन्हें शुभकामनाएं दी थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Updates |