केरल में भारी बारिश, बाढ़ और भूस्खलन के चलते 20 की मौत, कई लोग हुए लापता

प्रिया राणा, न्यूज़ डेस्क || केरल में लगातार हो रही भारी बारिश के चलते बाढ़ और भूस्खलन जैसे हालात पैदा हो गए हैं। जिसकी वजह से बुधवार से गुरूवार के बीच 20 लोगों की मौत हो गई। आपदा प्रबंधन अधिकारियों के अनुसार, इडुक्की जिले में सबसे अधिक जानें गईं हैं। यहां के अदिमाली में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत हो गई। इसके अलावा केरल के कई इलाकों में लोगों के लापता होने की भी खबर सामने आई है। इन इलाकों में वायनाड, पलक्कड़ और कोझीकोड़ शामिल है।

इडुक्की और इदामालयार बांध का जलस्तर क्षमता से ऊपर

वहीं, इडुक्की बांध बारिश से भर चुका है और 26 साल बाद इसका गेट खोला गया है। गुरुवार 9 अगस्त सुबह आठ बजे तक इसका जल स्तर 2,398 फीट था, जो जलाशय के पूर्ण स्तर के मुकाबले 50 फीट अधिक मापा गया। इसके चलते प्रशासन को हाई अलर्ट पर रखा गया है।

आज सुबह इदामालयार बांध के चार गेट खोले गए। जिससे 600 क्यूसेक पानी छोड़ा गया था। इसका जलस्तर क्षमता (169 मीटर) से करीब एक मीटर ज्यादा हो गया था।

सीएम पी. विजयन ने बुलाई बैठक

राज्य में उत्पन्न इन स्थितियों का ब्यौरा व आंकलन करने के लिए मुख्यमंत्री पी. विजयन ने आपात बैठक बुलाई। विजयन ने कहा, ‘हमने सेना, नौसेना, तटरक्षक बल और एनडीआरएफ को बुलाया है। एनडीआरएफ की तीन टीमें पहुंच गई हैं। दो टीम जल्द ही पहुंचेंगी। हालात को देखते हुए नेहरू ट्रॉफी बोट रेस रद्द कर दी गई है’।

एयरपोर्ट के कई हिस्सों में भी भरा पानी

वहीं, कोच्ची एयरपोर्ट के निदेशक ने बताया है कि हवाई अड्डे के कई हिस्सों में पानी भर चुका है। जिसके चलते इसे जल्द ही बंद किया जा सकता है। साथ ही अगले नोटिफिकेशन तक एयरपोर्ट पर कोई फ्लाइट लैंड नहीं होगी और इस वजह से सभी फ्लाइट्स को दूसरे एयरपोर्ट के लिए डायवर्ट भी किया जा चुका है।

कहां हुईं कितनी मौतें?

आपदा नियंत्रण कक्ष के सूत्रों के अनुसार, इडुक्की (पूरे जिले में) में 10 , मल्लापुरम में 5, कन्नूर में 5, वायनाड में 5 मौत की पुष्टि की जा चुकी है। वायनाड, पलक्कड ओर कोझिकोड जिलों में एक-एक व्यक्ति लापता हैं।

मदद के लिए भेजी गईं टीमें

बताया गया है कि मदद के लिए बेंगलुरू से आर्मी सपोर्ट भेजा जा चुका है। इसके साथ ही चेन्नई से एनडीआरएफ की टीमें भी केरल के लिए रवाना हो चुकी हैं। वहीं वायनाड और कोझिकोड जिलो में भी भारी बारिश और बाढ़ के कारण एनडीआरएफ का एक दल कोझिकोड पहुंच चुका था। साथ ही इन हालातों के चलते इडुक्की, कोल्लम और कुछ अन्य जिलों में शैक्षिक संस्थानों में गुरुवार को छुट्टी रखी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Updates |