पीएम मोदी का कांग्रेस और राहुल गांधी पर निशाना

श्री कृष्ण, नई दिल्ली ।। मॉब लिंचिंग की निंदा करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने एक निजी समाचार एजेंसी के साथ एक इंटरव्यू में हिंसक भीड़ द्वारा की जा रही लोगों की हत्याओं को दुर्भागपूर्ण बताया। इस इंटरव्यू में उन्होंने मॉब लिंचिंग पर बात करते हुए विपक्षी पार्टियों पर हमला भी बोला और साथ ही उन्होंने कहा कि देश में राजनीति को छोड़कर शांति और सौहार्द बनाने की जरूरत है। पीएम मोदी ने कहा कि लिंचिंग की छोटी से छोटी घटना भी बहुत चिंताजनक है। विपक्ष को ऐसे मुद्दों पर राजनीति नहीं करनी चाहिए बल्कि समाज में शांति और सौहार्द बनाने में जरूरत है।

पीएम ने मॉब लिंचिंग की घटनाओं को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

इस इंटरव्यू में बात करते हुए पीएम मोदी ने कई गम्भीर विषयों पर अपनी बात रखी। उन्होंने मॉब लिंचिंग पर अपनी चिंता व्यक्त करने के साथ-साथ एनआरसी और 2019 के आम चुनावों पर भी चर्चा की। नरेंद मोदी ने भीड़ द्वारा की जा रही हत्या पर पूछे गए सवालों का जवाब देते हुए कहा कि मेरी पार्टी और मैं ऐसी घटनाओं पर कई बार कह चुकें है कि ऐसी घटनाएं बहुत ही चिंताजनक है। यह सब रिकॉर्ड में भी शामिल है। हमें समाज में राजनीति को छोड़कर शांति और एकता को सुनिश्चित करना चाहिए। इसी के साथ पीएम ने विपक्ष पर भी हमला करते हुए कहा कि ऐसे मुद्दों पर राजनीति करना बिल्कुल भी सही नहीं है। हालांकि ऐसी हिंसाएं अपराधों को ओर ज्यादा बढ़ावा देती है। इसलिए ऐसी हिंसा का विरोध करना चाहिए।

भारत के किसी भी नागरिक को नहीं छोड़ना होगा देश-पीएम

नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर पर भी अपनी बात रखते हुए कहा कि भारत के किसी भी नागरिक को अपना देश नहीं छोड़ना पड़ेगा। वहीं प्रधानमंत्री ने अविश्वास प्रस्ताव में गले लगाने वाली बात पर राहुल गांधी को भी आड़े हाथों लिया है। उन्होंने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव में गले लगाने वाली बात पर अपने सहयोगियों को आंख मारना एक बचपना जैसा है। उनका यह तरीका बिल्कुल बचपने जैसा है। साथ ही पीएम ने राहुल पर तंज कसतें हुए कहां कि मैं एक शांत स्वभाव वाला कामदार हूं। किससे नफरत की जाएं, किससे प्यार किया जाएं। मेरे जैसा कामदार का इसमें बिल्कुल भी दखल नहीं हो सकता है।

बता दें कि 9 राज्यों में 2014 से लेकर 2018 तक भीड़ द्वारा मारे गए लोगों की संख्या 45 हो गयी है। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से इस विषय पर एक कानून बनाने की मांग की थी। जिससे कि ऐसी घटनाओं को रोका जा सके। लेकिन सरकार ने अभी तक मॉब लिंचिंग पर ऐसा कोई कानून नहीं बनाया है जिससे इन घटनाओं को रोका जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Updates |