गोकशी के गवाह दो साधूओं की गला रेतकर हत्या

जुली सिंह, नई दिल्ली/उत्तर प्रदेश ।। कड़ी कानून व्यवस्था और सुरक्षा के पुख्ता इंतजामों के दावे ठोकने वाली यूपी सरकार की सुरक्षा को लेकर किरकिरी जारी है । सुरक्षा के तमाम दावों के बावजूद भी प्रदेश मे अपराधों का सिलसिला थमने का नाम का नही ले रहा है। उत्तर प्रदेश की ओरैया से सामने आए इस मामले ने सबके होश उड़ा दिए हैं । औरेया में बिधुना जिले में दो साधुओं की हत्या कर दी गई है। जबकि एक साधु गंभीर रुप से घायल है।  पुलिस ने अज्ञात हमलावरों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है ।

क्या है पूरा मामला?

दरअसल उत्तर प्रदेश में औरैया जिले के बिधुना में तीन साधुओं पर अज्ञात लोगों ने हमला कर दिया । इस हमले में दो साधुओं की मौत हो गई और एक साधु गंभीर रुप से घायल भी हो गया । हमलावरों ने साधूओं को चारपाई मे बांधकर धारदार हथियार से उनकी हत्या कर दी गई। ये सभी साधू बिधूना कोतवाली क्षेत्र के कुदरकोट में स्थित भयानक नाथ मंदिर में आराम कर रहे थे । मंदिर मे रह रहे तीनों पुजारियों पर बुधवार सुबह अचानक ही हमला हुआ। घायल पुजारी रामशरण को अस्पताल मे भर्ती कराया गया है। हमले के शिकार हुए साधुओं के नाम लज्जाराम और हल्केराम बताया जा रहा है। इनकी आयु कम से कम 50 से 60 के बीच है।

घटना की जानकारी मिलने के बाद से ही इलाके में काफी तनाव बना हुआ था। लोगों ने कुदरकोट चौराहे पर इकट्ठा होकर सीएम योगी को बुलाए जाने की मांग कर रहे थे । मौके पर पहुंचे आला अधिकारियों ने लोगों को समझाने की कोशिश की लेकिन लोगों को आरोप था कि ये घटनांए इसलिए हुई क्योंकि इन साधूओं ने पुलिस को गोकशी की जानकारी दी थी ।

सीएम योगी का रिएक्शन

सीएम योगी आदित्यनाथ ने पुलिस प्रशासन को 48 घंटे के अंदर- अंदर मामले की जांच कर, आरोपियों का पता लगाने का आदेश दिया है। साथ ही सरकार की ओर से मृत पुजारियों के परिवारजनों को 5 लाख रुपये और घायल को एक लाख रुपये की सहायता देने का ऐलान किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Updates |