1985 में जीता पहला टेस्ट और सीरीज, फिर करना पड़ा लंबा इंतजार

विभा कुमारी, स्पेशल रिपोर्ट ।। यूं तो हर जीत अपने आप में बहुत खास होती है लेकिन पहली जीत की बात ही कुछ और होती है। पहली जीत बारिश की उस बूंद की तरह होती है जो बंजर पड़ी धरती में भी जान फूंक दे। आज ऐसा ही कुछ खास दिन श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के लिए भी है। आज ही के दिन यानि 11 सितंबर, 1985 में श्रीलंका टीम ने अपनी पहली टेस्ट जीत दर्ज की थी।

पहला टेस्ट जीत

आपको बता दें कि श्रीलंका क्रिकेट टीम ने टेस्ट मैच में पदार्पण 2 फरवरी, 1982 में ही इंग्लैंड के खिलाफ कर लिया था, लेकिन उसे जीत का स्वाद 1985 में चखने को मिला।  25 अगस्त से 22 सितंबर 1985 को भारतीय टीम श्रीलंका दौरे पर 3 टेस्ट और 3 ODI मैच खेलने के लिए गई थी। इस टेस्ट सीरीज का पहला मैच 30 अगस्त 5 सितम्बर तक चला। मैच में श्रीलंकाई टीम का शानदार प्रदर्शन देखने को मिला। खराब मौसम के कारण यह मैच ड्रॉ हो गया। वहीं दूसरा मैच 6 सितंबर से 11 सितंबर तक खेला गया। मैच में शानदार प्रदर्शन का मुजायरा दिखाकर मैच को 149 रनों से अपने नाम करते ही श्रीलंका ने अपने टेस्ट  इतिहास की पहला जीत दर्ज करी। तीसरा मैच भी ड्रॉ होने के कारण श्रीलंकाई टीम ने सीरीज को भी 1-0 से अपने नाम कर लिया।

श्रीलंका का टेस्ट सफर 

1985 में अपना पहला टेस्ट मैच जीतने के बाद, श्रीलंकाई टीम को अपनी अगली सीरीज जीतने के लिए लगभग 7 सालों का इंतजार करना पड़ा। यह इंतजार 1992 में खत्म हुआ, जब श्रीलंका ने न्यूजीलैंड को 1-0 से हराया। श्रीलंकाई टेस्ट टीम का तब से जीत और हार का कारवां यूं ही चलता रहा और टीम ने लगभग हर उस बड़ी टीम को शिकस्त दी जिसे क्रिकेट का बादशाह माना जाता है।

बता दें कि  श्रीलंका ने अब तक 274 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें उसे 88 में जीत तो 101 में हार का  सामना करना पड़ा, वहीं 85 मैच ड्रॉ रहे। इस साल टीम ने कुल 7 मैच खेले, 4 में जीत और 1 में हार मिली। वहीं दो मैच ड्रॉ रहें। श्रीलंका ने अपना अंतिम टेस्ट मैच इसी साल साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेला जिसमें उसने जीत भी हासिल की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Updates |