सड़को पर जलभराव के साथ-साथ डेंगू से भी रहें सावधान

निखिल कुमार झां, नई दिल्ली।। जहाँ एक तरफ कहा जाता हैं कि जल ही जीवन हैं, वहीं दूसरी तरफ यह लोगो की मौत का कारण बनता जा रहा है। मानसून के समय में दिल्ली की अधिकांश सड़के खराब अवस्था में है क्योकि सड़को पर बड़े-बड़े गड्डे होने से इनमें जलभराव हो जाता है। यह हाल केवल बड़ी सड़को का ही नही अपितु इसमें हमारी गलिया, छतों की टंकिया जैसी चीजें भी शामिल है। बरसात में इन्ही सब परेशानियों के कारण डेंगू जैसी खतरनाक बीमारिंया पनपती हैं। हर वर्ष सैकड़ो ये बीमारी हजारों लोगों को अपना शिकार बनाती हैं। यदि हम राष्ट्रीय वेक्टर बोर्न रोग नियंत्रण कार्यक्रम (एनवीबीडीसीपी) तथा राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्रोफाइल के अनुसंधानों को देखें तो पाएंगे कि वर्ष 2017 में डेंगू के 1,88,401 मामले सामने आये, जबकि वर्ष 2013 में 75,808 मामलें तथा वर्ष 2009 में 60,000 से भी कम डेंगू के मामलें सामने आये थे। दक्षिण भारत में सबसे ज्यादा तमिलनाडु में (लगभग 23,000) डेंगू के मामले सामने आये, फिर केरल(19,000) व उसके बाद कर्नाटक में (17,000) मामले सामने आये। यदि हम उत्तर भारत की बात करे तो हम देखेंगे कि उत्तर भारत में सबसे ज्यादा डेंगू के मामले नागालैंड में (350) व सिक्किम में (300) मामले मिलते हैं। डेंगू के कारण प्रतिवर्ष मरने वालो कि संख्या में लगातार वृद्धि हो रही हैं। इस समस्या के समाधान के लिये सरकार को जल्द से जल्द कोई ठोस कदम उठाना चाहिये। वह इसके रोकथाम करने हेतु लोगो को जागरूक करना चाहिए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Updates |