तेल की बढ़ती कीमतो से अभी तक नहीं मिली जनता को राहत

एकता, नई दिल्ली।। राष्ट्रीय राजधानी सहित देश के दूसरे हिस्सों में तेल के दाम आसमान छूने तक को तैयार हैं। देश के चार महानगरों में डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं। राजधानी दिल्ली में डीजल के दाम 75.46 रुपये लीटर, मुंबई में 79.11 रूपये लीटर, चेन्नई में 79. 80 रूपये लीटर, वहीं कोलकाता में डीजल के दाम 77.31 रूपये प्रति लीटर हो गये हैं।

कीमत में बढ़ोत्तरी के कारण

अमेरिका द्वारा ईरान पर प्रतिबंध लगाने के कारण कच्चे तेल की कीमतों में तेजी से बढ़ोत्तरी हो रही है। आपको बता दें कि इस साल कच्चे तेल की कीमत 85 डॉलर प्रति बैरल हो चुकी है। वही, दूसरी ओर डॉलर के मुक़ाबले रुपया बहुत ही कमजोर होता जा रहा है। तो, जाहिर सी बात है कि इसका असर भारतीय अर्थव्यवस्था पर भी देखने को मिलेगा। हालांकि, तेल की कीमतों में बढ़ोतरी का एक मुख्य कारण पेट्रोल पर दिन प्रतिदिन बढ़ता सरकारी टैक्स भी है।

तेल पर खेला जा रहा है सियासी दांव पेच

तेल की बढ़ती कीमतों का असर आने वाले 2019 के लोकसभा चुनाव पर किस तरह पडे़गा, यह जानने को सभी बहुत ही उत्सुक हैं। पेट्रोल-डीजल को लेकर विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तेल की कीमतों में कमी के नाम पर जनता की आंखों में धूल झोंक रहे हैं।

कांग्रेस पार्टी के प्रमुख प्रवक्ता सुरजेवाला ने अपने बयान में कहा कि ‘मोदी जी, आपकी तेल की कटौती का दिखावा, निकला सिर्फ बहकावा’। वहीं, कच्चे तेल की कीमतों को लेकर ममता बनर्जी ने कहा कि तेल की कीमतों में कम से कम 10 रुपये की कटौती करनी चाहिए। जिससे जनता को राहत मिल सकें। हालांकि, अब देखना यह है कि आने वाले समय में क्या पेट्रोल और डीजल की कीमतों मे कमी आएगी?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Updates |