शिवराज ने घोषणा पत्र से की जनता को साधने की कोशिश

न्यूज डेस्क, नई दिल्ली ।। मध्यप्रदेश में चुनावी रण सज चुका है। एमपी में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है। इस बार बीजेपी ने अपना एक नहीं बलकि दो घोषणा पत्र जारी किए हैं। इनमें पहला घोषणा पत्र है ‘समृद्ध मध्यप्रदेश दृष्टि पत्र’ और दूसरा है ‘नारी शक्ति संकल्प पत्र’। सूबे के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने इन घोषणा पत्रों को जारी किया साथ ही कहा कि हमारी सरकार हर साल 10 लाख रोजगार के अवसर देगी। साथ ही शिवराज ने कहा कि उनकी सरकार किसानों को भी काफी राहत देगी। किसानों के लिए फायदे गिनवाते हुए उन्होंने कहा कि किसानों के खातों में उनकी खेती के रकबे के हिसाब से बोनस की राशि ट्रांसफर की जाएगी। सीएम शिवराज ने कहा कि इसका फायदा उन 17 लाख किसानों को मिलेगा जो कृषि समृद्धि या भावांतर योजना का लाभ नहीं उठा पाते हैं।

आपको बता दें कि बीजेपी ने चुनावी घोषणा पत्र तैयार करने से पहले लोगों से उनके सुझाव मांगे थे। पार्टी को इसके लिए 30 हजार से ज्यादा सुझाव मिले थे जिसमें से 700 सुझावों को बीजेपी ने घोषणा पत्र में शामिल किया है।

 

क्या है घोषणा पत्र में लोगों के लिए खास

हायर सेकंडरी स्कूल में 75 फीसदी नंबर लाने वाले और कॉलेज जाने वाली लड़कियों को सरकार की तरफ से फ्री स्कूटी दी जाएगी।

लड़कियों को कॉलेज तक ले जाने और कॉलेज से घर लाने के लिए मुफ्त परिवाह सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।

लड़कियों को स्कूल और कॉलेज में सैनेटरी नैपकिन उपलब्ध कराने की मुफ्त योजना लाई जाएगी।

ऐसे बच्चे जिनका परिवार आर्थिक रूप से कमजोर है उनकी पहली कक्षा की पढ़ाई से लेकर पीएचडी तक की मुफ्त पढ़ाई कराई जाएगी। इसमें इंजीनियरिंग और मेडिकल की पढ़ाई भी शामिल होगी।

लड़कियों के खिलाफ बढ़ते अपराध को देखते हुए उन्हें कॉलेज और स्कूल में मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग भी दी जाएगी। गर्ल्स हॉस्टल की क्षमता को बढ़ाया जाएगा।

साइंस, टेक्नोलॉजी, इंजीनियरिंग और मैथ्स की सीटों की संख्या बढ़ाई जाएंगी। फूड प्रोसेसिंग, टूरिज्म यूनिवर्सिटी भी खोली जाएगी।

सभी महिला थानों में महिला उपनिरीक्ष सिर्फ मिलाओं से जुड़े मामले देखेंगी।

हर साल लोगों को 10 लाख रोजगार दिए जाएंगे।

कम वेतन पर काम करने वाले लोगों को भी सम्मानजनक मानदेय दिया जाएगा।

किसानों के लिए भी शिवराज सरकार ने अपने घोषणापत्र में काफी दावे किए गए हैं। सीएम शिवराज का कहना है कि काफी छोटे किसान ऐसे हैं जिन्हें योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाता उन तक लाभ पहुंचाया जाएगा। छोटे किसानों के पास अपनी फसल बेचने के सही साधन नहीं होते, जिसकी वजह से वे कई बार बाजार तक नहीं पहुंच पाते। शिवराज सरकार ने कहा है कृषि समृद्धि योजना का जितना लाभ मंडी या समर्थन मूल्य पर बेचने वाले किसानो को मिलता है उतना ही छोटे किसानों को भी मिलेगा।

आपको बता दें कि मध्यप्रेदश में 28 नवंबर को मतदान होने हैं। जिनके नतीजे 11 दिसंबर को आने हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Updates |